Friday, July 7, 2017

मंज़िले और रास्ते

बस मंज़िल का पता रखते हैं,
रास्ते की फिक्र नही मुझको,
साधन कौन सा होगा, नही पता,
बस हौसले को जिंदा रखते हैं।

Saturday, July 1, 2017

जिंदगी

अपनी जिंदगी से मैं ऊब गया लगता हूँ,
ना जाने किस बात की कसक बाकी है,